Astrology

2021 Mein Tyohar ki List

2021 भारतीय त्यौहारों और अवकाश का कैलेण्डर

2021 Mein Tyohar ki List: भारत अपनी सांस्कृतिक विविधता और धर्मों के लिए पहचाना जाता है जो हमें बहुत सारे त्यौहारों को मनाने का कारण देता है। हिंदू, मुस्लिम, सिख या ईसाई होने के नाते हम पर कोई बाधा नहीं डालते हैं क्योंकि देश में प्रत्येक त्योहार समान उत्साह के साथ मनाया जाता है। यहां …

2021 भारतीय त्यौहारों और अवकाश का कैलेण्डर Read More »

Shri Maha Mrityunjaya Stotram

श्री महामृत्युंजय स्त्रोत पाठ

श्री महामृत्युंजय स्तोत्र को सभी बुराइयों को दूर करने, मृत्यु के भय को दूर करने और सभी इच्छाओं की प्राप्ति वाला माना जाता है। श्री महामृत्युंजय स्तोत्र  की रचना ऋषि मार्कंडेय ने की थी। यह सबसे शक्तिशाली स्तोत्र में से एक है। ॥ श्री महामृत्युंजय स्तॊत्रम्‌ ॥. ॐ अस्य श्री महा मृत्युंजय स्तॊत्र मंत्रस्य श्री …

श्री महामृत्युंजय स्त्रोत पाठ Read More »

Makar Rashi

मकर राशि Makar Rashi परिचय और स्वाभाव के बारे में जानिये

मकर राशि (Makar Rashi) का स्वामी शनि है इस राशि में जन्म लेने वाले जातक का मध्यम कद, नयन नक्श तीखे, सुंदर मुखाकृति, काले घने बाल वाले होंगे। जातक गंभीर, भावुक हृदय, संवेदनशील, अभिलाषी, सेवा धर्मी, मननशील एवं धार्मिक प्रवृत्ति वाला होगा। बुध व शुक्र शुभ होने पर व्यवहार कुशल, गहन विचार एवं विश्लेषण के पश्चात …

मकर राशि Makar Rashi परिचय और स्वाभाव के बारे में जानिये Read More »

Meen Rashi

मीन राशि Pisces परिचय और स्वाभाव के बारे में जानिये

मीन राशि : दि, दु, थ, झ, दे, दो, चा, ची Meen Rashi करुणा और दया की प्रतीक है यह मध्यम देह, स्त्री राशि, पिंगल वर्ण, ब्राह्मण जाति, जल तत्व, द्विस्वभावा, सौम्य प्रकृति, दिवा बली, सतोगुणी, कफ प्रकृति, सम संज्ञक, उत्तर दिशा की स्वामिनी है। मीन राशि का स्वामी गुरु है मीन राशि में उत्पन्न …

मीन राशि Pisces परिचय और स्वाभाव के बारे में जानिये Read More »

shri aditya hridya stotra

श्री आदित्य हृदय स्तोत्र

श्री आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करने से भय, नकारात्मक सोच, घबराहट जैसी समस्याओं से मुक्ति मिलती है। नियमित रूप से पाठ करने से कार्य क्षेत्र में उन्नति, मान प्रतिष्ठा में वृद्धि और कीर्ति प्राप्त होती है। विनियोग ॐ अस्य आदित्य हृदयस्तोत्रस्यागस्त्यऋषिरनुष्टुपछन्दः, आदित्येहृदयभूतो भगवान ब्रह्मा देवता निरस्ताशेषविघ्नतया ब्रह्मविद्यासिद्धौ सर्वत्र जयसिद्धौ च विनियोगः। श्री आदित्य हृदय …

श्री आदित्य हृदय स्तोत्र Read More »