General Tips & AdviceHealth Topics In Hindi

Diarrhea During Periods: Causes and Remedies | पीरियड्स के दौरान बचें गैस-डायरिया से

Diarrhea During Periods: Causes and Remedies

346 total views, 3 views today

एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रॉन दोनों  हार्मोन पीरियड्स को नियंत्रित करते हैं, अंडोत्सर्ग हो सके इस कारण प्रोजेस्ट्रॉन हार्मोन का स्तर अधिक हो जाता है। इससे पाचन तंत्र प्रभावित होता है। कई महिलाओं को पीरियड्स के दौरान कब्ज़-डायरिया (Diarrhea During Periods: Causes and Remedies) की समस्या होती है।

डायरिया

कई महिलाओं को पीरियड्स प्रारंभ होने से पहले पेट में मरोड़ और मल त्यागने की आदतों में बदलाव आ जाता है।

आंते अतिसक्रिय हो जाती हैं, इससे डायरिया हो जाता है, इस दौरान सेरेटोनिन और ऑक्सिटोसिन का स्तर भी बढ़ जाता है।

डायरिया की समस्या पीरियड्स के पहले तीन दिन अधिक होती है।

कुछ महिलाओं को पीरियड्स शुरू होने के एक सप्ताह पहले जी मचलाने और पेट फूलने की समस्या होने लगती है।

लक्षण:दस्त, पेट में मरोड़, जी मचलाना, पेट फूलना, पाचन क्रिया का मंद पड़ जाना।

Sonth ke Fayde in Hindi | फायदेमंद है सौंठ

इस स्थिति से बचने के तरीके

तरल पदार्थों का सेवन जितना अधिक मात्रा में हो सके करना चाहिए।

फाइबर युक्त आहार जैसे मक्का खाना चाहिए।

सेब और नाशपाती जैसे फल छिलके सहित खाना चाहिए।

मूली, पत्तागोभी, खीरा में भी पर्याप्त मात्रा में फाइबर होता है। इन्हें अधिक मात्रा में खाना चाहिए।

इससे मल थोड़ा ठोस हो जाता है। नियमित रूप से व्यायाम करना चाहिए।

कैफीन और जंक फूड्स का सेवन नहीं करना चाहिए, इससे डायरिया की समस्या बढ़ जाती है।

क्या न खाएं, क्या खाएं

हरी पत्तेदार सब्जियां, मछली, चॉकलेट, दही, केले, पपीता का सेवन करना चाहिए।

तले हुए खाद्य पदार्थ, रिफाइंड फूड्स, नमक युक्त खाद्य पदार्थ, डेयरी प्रोडक्ट का कम से कम इस्तेमाल करना चाहिए।

इससे लैक्सेटिव प्रभाव होता है जिससे आंत की दीवारों की मांसपेशियों का संकुचन बढ़ जाता है, इससे डायरिया की समस्या बढ़ जाती है।

पीरियड्स में गैस की समस्या

प्रोजेस्ट्रॉन के कारण गैस और पेट फूलने की समस्या हो जाती है।

एक बार पीरियड्स शुरू होने पर, रसायन प्रोस्टैगलैंडिन्स स्रावित हो जाता है, इससे गैस की समस्या और बढ़ जाती है।

बचाव के तरीके

स्टार्च युक्त पदार्थों जैसे चावल, आलू आदि का सेवन कम मात्रा में या बिलकुल नहीं करना चाहिए।

फलियों और दालों का सेवन भी कम मात्रा में करना चाहिए।

ऐसा भोजन जिसमें सल्फर की मात्रा अधिक होती है इसलिए बचना चाहिए।

प्रोसेस्ड फूड्स, फूलगोभी, पत्तागोभी, ब्रोकली, सूखे मेवे आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।

इन दिनों गर्मागरम सूप का सेवन लाभदायक रहता है।

रिस्क फैक्टर्स:आईबीएस (इरिटेबल बॉउल सिंड्रोम), 93 प्रतिशत महिलाएं जिन्हें आईबीएस होता है, उन्हें पीरियड्स के दौरान पाचन तंत्र से संबंधित गड़बड़ियां हो जाती हैं जैसे डायरिया, कब्ज आदि।

Comment here