Kark Rashi

कर्क राशि Cancer परिचय और स्वाभाव

कर्क राशि Kark Rashi: हि, हु, हे, हो, डा, डी, डू, डे डो

कर्क राशि Kark Rashi का स्वामी चन्द्रमा है। जल तत्व प्रधान एवं चर राशि होने से जातक सुंदर और आकर्षक होगा। आकर्षक मुखाकृति, गोल चेहरा, और माध्यम कद होगा।

चंद्र-मंगल शुभ हों तो जातक संवेदनशील, भावुक, चंचल, बुद्धिमान, न्यायप्रिय, दयालु प्रकृति का होगा। सामान्यतः परिवर्तनशील स्वभाव, चंचल जलीय वस्तुओं का प्रिय, कल्पनाशील और मिलनसार प्रवृति होगी।

यदि चन्द्रमा अशुभ हो तो चिड़चिड़ा स्वभाव, वातावरण से जल्दी पप्रभावित होने वाला होगा। कला संगीत, प्राकृतिक सौंदर्य, व साहित्य में विशेष रूचि रखे।

ऐसा जातक परस्थिति अनुसार ढल जाने वाला, संबंधों में सच्चा, ईमानदार और सहृदय, दयालु प्रकृति का होगा। यह जिस किसी काम को करना चाहे कर ही लेता है।

आय के साधन एक से अधिक होते हैं। कल्पना विचार शक्ति प्रबल होती है। अन्य किसी के भावों को जल्दी बांप जाने की विशेष क्षमता होती है।

कर्क राशि वालों का मकर, वृश्चिक, मीन राशि वालों के साथ मित्रता होती है।

कर्क राशि के जातक अति संवेदनशील होते हैं। दूसरों की कही जरा सी बात की उन पर इतनी प्रतिक्रिया होती है कि वे घंटों उसके बारे में सोचते रहते हैं।
इनकी स्मरण शक्ति भी बहुत तेज होती है। कर्क राशि के जातकों को विशेषकर पत्नी तथा पुत्र से विशेष मोह होता है।

वह मित्रता को भी जीवन भर निभाना जानता है। कर्क राशि के लोग वस्तु तथा परिस्तिथि में जकड जाते हैं।

शुभ नग (Kark Rashi)

मोती

शुभ रंग

सफ़ेद रंग का इस्तेमाल अवश्य करना चाहिए।

और राशियां

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *