Signs of a narcisist

क्या आप एक आत्मपूजक व्यक्ति के साथ रह रहे हैं?

एक आत्मपूजक व्यक्ति यानी की एक नर्सिसिस्ट को पहचानना कई बार बेहद मुश्किल हो सकता है। इसके लिए कोई अलग परीक्षण नहीं बनाए गए हैं। परंतु व्यक्ति के व्यवहार, आदतों और मनोदृष्टी से आप उसे पहचान सकते हैं।

आइए हम बताते हैं आपको कुछ व्यवहारों के बारे में जिनसे आपको सहायता मिल सकती है।

1. श्रेष्ठता और पात्रता

एक नर्सिसिस्ट के लिए दुनिया का मतलब सिर्फ़ सही/गलत, अच्छा/बुरा और श्रेष्ठता/हीनता ही है।

उसके लिए वह स्वयं ही सबसे उत्तम व्यक्ति होता है, चाहे वो सही हो या गलत। सर्वश्रेष्ठ पद ही उसके लिए सबसे सुरक्षित स्थान होता है। रोमांचक बात यह है कि गलत होने पर भी वह खुद को सबसे सही, उत्तम और दयालु इंसान समझता है। वह खुद को सदैव सहानुभूति के काबिल समझता है। वह माफ़ी की उम्मीद हमेशा सामने वाले से ही रखता है।

2. ज़रूरत से ज़्यादा ध्यान और मान्यता पाने की इच्छा

एक आत्मपूजक व्यक्ति किसी ना किसी तरह से आपका ध्यान अपनी ओर आकर्षित करने की कोशिश करता रहेगा। उसे थोड़े – थोड़े समय बाद आपके प्यार और ध्यान की आवश्यकता होगी। उसे चाहिए की सब हर समय उसके इर्दगिर्द घूमते रहें।

परंतु आप उसे जितना भी प्रेम और समय दें, वह सब व्यर्थ है क्यूंकि उसे कभी महसूस नहीं हो पाता कि कोई उससे प्रेम करता है । चाहे जितना भी स्नेह मिल जाए, परंतु एक नर्सिसिस्ट के लिए कभी भी काफी नहीं होता।

3. पूर्णतावादी

एक आर्मकामी व्यक्ति को हर चीज़ और हर व्यक्ति उत्तम चाहिए होता है। वह चाहते हैं कि उनके आस पास का माहौल एकदम निपुण रहे और आस पास के सब लोग भी हर समय उत्तम व्यवहार करें।

परंतु यह एक असंभव इच्छा है। व्यक्ति और वक्त दोनों ही हर समय एक जैसे नहीं रह सकते। इस तरह एक नर्सिसिस्ट हर पल ज़िन्दगी से, लोगों से और स्वयं से निराश ही रहता है। शिकायतों के सिवा उसके पास और कुछ भी नहीं होता।

4. हर व्यक्ति पर नियंत्रण रखने का प्रयास

आत्मपूजक व्यक्ति कभी भी दूसरों से खुश नहीं हो सकता।। उसे हमेशा दूसरों में गल्तियाँ ही नज़र आती हैं । वह खुद को सबसे श्रेष्ठ मानता है इसलिए वह लगातार दूसरों पर हावी होने की कोशिश करता है।

वह अपने दिमाग में हर व्यक्ति की एक छवि बना लेता है, आप क्या बोलेंगे, क्या करेंगे यह सब वह अपने दिमाग में तय कर लेता है। परंतु अगर आप इससे कुछ भी अलग कर दें तो वह आपसे निराश हो जाता है।

5. ज़िम्मेदारी से भागना

भले ही नर्सिसिस्ट हर चीज़ पर नियंत्रण रखना चाहते हैं, परंतु किसी भी हुई गल्ती की ज़िम्मेदारी लेने के लिए वह कभी सामने नहीं आते। या तो वह बाकी सब लोगों और स्थितियों को ज़िम्मेदार ठहरा देते हैं या फिर किसी अपने करीबी व्यक्ति को चुन कर उस पर पूरा डाल देते हैं। अपने दिमाग में अपनी उत्तम छवि को बरकरार रखने के लिए, वह हमेशा दूसरों को ही गलत समझते हैं।

6. व्यग्रता

नर्सिसिस्ट 24 घंटे सिर्फ चिंता में ही डूबा रहता है। कुछ होते हैं जो लगातार इसके बारे में बात करते रहते हैं और कुछ इस दबा लेते हैं। वह किसी ना किसी कार्य को ले कर सदैव बेचैन रहता है।

ऐसे में वह दूसरों से लड़ झगड़ कर अपनी चिंता उन्हें सौंपने की कोशिश करता है। जैसे – जैसे आप बेचैन महसूस करते हैं, वैसे – वैसे नर्सिसिस्ट बेहतर महसूस करने लग जाता है।

इस तरह आपके आस पास अगर कोई व्यक्ति अधिक वक्त तक इस तरह का व्यवहार करता है, तो अब आप उस आत्मकामी व्यक्ति को पहचान सकते हैं।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *