परीक्षा की तैयारी होगी आसान अगर इन बातों पर देंगे ध्यान

परीक्षाएं नज़दीक चल रही हैं तो। सब कुछ पढ़ने  में वक़्त ज़ाया न करके रिवीज़न पर ध्यान देने की ज़रूरत है। कुछ तरीक़े Exam Preparation Tips in Hindi परीक्षा से पहले काफ़ी मददगार साबित होते हैं, क्यों न इनके बारे में जान लिया जाए.

जितना जल्दी उतना बेहतर

परीक्षा में समय कम बचा है इसलिए एक दिन भी बिना गंवाए तैयारी शुरू कर दें। पूरे सेमेस्टर के लिए तैयारी करना है तो कम से कम 2 से 3 हफ़्ते पहले से पढ़ने की ज़रूरत है।

अगर क्लास टेस्ट के लिए तैयारी कर रहे हैं तो 3 से 4 दिन का वक़्त कम से कम निकाल लें। ताकि महत्वपूर्ण विषय को पढ़ने का समय मिल सके। कोशिश करें कि नोट्स बनाते समय ही जिस विषय में शंका हो उसे तुरंत दूर कर लें।

शिक्षक से लें मार्गदर्शन

परीक्षा की तैयारी में रुकावट की तरह आते हैं वे प्रश्न या विषय के हिस्से, जो बिलकुल समझ में नहीं आए थे। इन्हें नोट करके शिक्षक से पूछने में हिचकें नहीं।

पाठ्यक्रम को साथ रखकर पढ़ें

हम अक्सर किताबें, कॉपियां साथ रखकर पढ़ना शुरू कर देते हैं। अहम चीज़ यानी कि पाठ्यक्रम पर ध्यान ही नहीं देते हैं। इस कारण पाठ्यक्रम में क्या-क्या है, क्या पढ़ लिया है या क्या छूट रहा है इसकी जानकारी नहीं मिल पाती।

इसलिए इसका ख़्याल रखें। जब भी पढ़ने बैठें उस वक़्त सिलेबस को अपने साथ ज़रूर रखें। इससे आपको पता चलता जाएगा कि आपने कौन सा विषय(टॉपिक) पढ़ लिया है।

साथ ही जो विषय पढ़ लें उस पर निशान ज़रूर लगाते जाएं ताकि आश्वस्त रहें कि इतना तो पढ़ ही लिया है।

Exam Preparation Tips in Hindi

फ्लैशकार्ड बनाएं

जो विषय पढ़ लिया है उसके प्रश्नों के उत्तर के फ्लैश कार्ड बना लें। जैसे किसी सवाल को हल करने के लिए शुरुआती एक शब्द इशारे के लिए इस्तेमाल करते हैं।

वैसे ही सवाल के उत्तर में जिस शब्द से उत्तर याद आए उस शब्द को लिख लें। इस तरक़ीब से आपको उत्तर फटाफट याद हो जाएगा। फ्लैशकार्ड में कम से कम शब्दों का इस्तेमाल करना चाहिए।

ख़ुद तैयार करें नोट्स

अपने नोट्स ख़ुद तैयार करें, ताकि आपको पता रहे कि आपने कहां पर क्या लिखा हैं। आप जब अपने नोट्स तैयार करते हैं तो उस दौरान विषय के बारे में काफ़ी जानकारी हो जाती है जो पढ़ाई में मदद करती है। कक्षा में पढ़ते वक़्त ही नोट्स बनाते जाना बेहतर रहता है।

पुराने प्रश्नपत्र करेंगे मदद

पुराने प्रश्नपत्र लेकर उनसे तैयारी करें। साथ ही पढ़ने में सीनियर्स की मदद ले सकते हैं। वो आपको अपने अनुभव बताने के साथ-साथ किस विषय से ज़्यादा प्रश्न आते हैं किस पर अधिक ध्यान देना है इसमें मदद करेंगे।

वैसे मूलमंत्र वही है- नियमित पढ़ाई और लिख-लिखकर प्रश्न हल करना।

  • अच्छी तैयारी के लिए ज़रूरी है अच्छी सामग्री (नोट्स) से पढ़ाई करें।
  • बाहर से मिले नोट्स को पढ़ने से पहले शिक्षक को दिखाएं उसके बाद ही पढ़ाई शुरू करें।
  • परीक्षा के एक दिन पहले तनाव लें और पूरी नींद लें।
  • जल्दी-जल्दी नया पढ़ने की कोशिश भूल से भी न करें। इस कारण में पहले से पढ़ा हुआ भी भूल सकते हैं।
  • पढ़ने के बाद ख़ुद अपनी परीक्षा लें।
  • एक प्रश्नपत्र बनाएं और हल करें। इससे आप पता लगा सकेंगे कि आपकी तैयारी कैसी है।
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *