postpaid-service-to-be-restored-in-j-k-from-monday

सोमवार से कश्मीर में शुरू की जाएंगी पोस्टपेड संपर्क सेवाएं

आर्टिकल 370 को रद्द करते हुए 5 अगस्त से जम्मू कश्मीर में संचार की सभी सेवाओं को बंद कर दिया गया था
सोमवार को सरकार द्वारा लिए गए इस फैसले को 69 दिन पूरे हो जाएंगे घोषणा की गई है कि सोमवार से कश्मीर में सभी पोस्टपेड टेलीफोन सेवाओं को शुरू कर दिया जाएगा परंतु इंटरनेट सेवाएं अभी भी रद्द ही रहेंगी।

कश्मीर के प्रमुख सचिव रोहित कंसल द्वारा मीडिया को बयान देते हुए कहा गया कि सोमवार से कश्मीर के सभी 10 जिलों में पोस्टपेड संपर्कों को चालू कर दिया जाएगा। यह घोषणा हर सेवा प्रदाता के लिए लागू की जाएगी।

ये भी पढ़ें : “तीन फिल्मों से 120 करोड़” कॉमेंट को केंद्रीय मंत्री ने लिया वापिस

रोहित ने कहा कि यह नियम राज्य की सुरक्षा के लिए लागू किया गया था ताकि कोई बाहरी आतंकी लोग इलाके में संपर्क ना बना पाएं और मासूम लोगों को आतंक के शिकार से बचाया जाए। 2008, 2010 और 2016 की स्थिति को ध्यान में रखते हुए लिया गया यह फैसला एकदम सही था। रोहित ने यह भी बताया कि जल्द ही हिरासत में लिए गए लीडरों को भी रिहा कर दिया जाएगा।

आर्टिकल 370 के विरूद्ध कई लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया दर्ज की थी। जिसकी वजह से सरकार ने राज्य की सुरक्षा के लिए कई नेताओं को नजरबंद कर दिया था, इंटरनेट और अन्य संपर्क सेवाओं को रद्द कर दिया था और पर्यटकों के भी इस इलाके में आने पर भी प्रतिबंध लगा दिया था।

ये भी पढ़ें : दिल्ली को मिला एक नया एयरपोर्ट

वीरवार को ही पर्यटन पर लगे प्रतिबंधों को भी हटा दिया गया है। पिछले महीने इलाके में लैंडलाइन कनेक्शन को भी चालू कर दिया था।

प्रतिबंधों की वजह से स्थानीय लोगों को कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा था। बेल्जियम में एक मैगजीन द्वारा इस विषय पर सवाल पूछे जाने पर विदेश मंत्री जयशंकर ने इस निर्णय को आवश्यक बताया।

आतंकियों के बीच संपर्क रोकने के लिए राज्य के लोगों के संचार को रोकना अनिवार्य था। उनके पास कोई ऐसा रास्ता नहीं था जिससे वह केवल आतंकियों के संचार को रोक पाते।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *