pmc-bank-accountholder-dies

संकटग्रस्त पीएमसी बैंक के जमाकर्ता की हुई मौत

पंजाब महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (पीएमसी बैंक) के खाताधारक संजय गुलाटी का सोमवार को निधन हो गया।

कई दिनों से सुर्खियों में चल रहे इस बैंक के सभी खाताधारक बेहद परेशान हैं। बैंक के ख़िलाफ़ कई विरोधी प्रदर्शन भी किए जा रहे हैं।

इसी बैंक के एक खाताधारक संजय गुलाटी की कहानी बेहद दुखदायक है। दिल का दौरा पड़ने से संजय की सोमवार को मृत्यु हो गई।

संजय का पीएमसी बैंक में 90 लाख रुपए का खाता था। परंतु बैंक के चल रहे संकट की वजह से वह भी अपनी धनराशि को ले कर चिंतित थे।

अन्य प्रदर्शनकारियों के बयान के मुताबिक संजय सोमवार की सुबह को हो रहे प्रदर्शन में शामिल हुए थे।

ओशिवारा के रहने वाले संजय अपने 80 वर्षीय पिता के साथ प्रदर्शन में हिस्सा लेने पहुंचे थे। ओशिवारा के पुलिस कर्मी द्वारा बताया गया कि सोमवार को रात्रि भोजन के दौरान दिल का दौरा पड़ने से संजय की मृत्यु हो गई।

संजय जेट एयरवेज में बतौर इंजिनियर काम करते थे। परंतु एयरलाइंस के बंद होने की वजह से उन्हें अपनी नौकरी से भी हाथ धोना पड़ा था। संजय के परिवार में बीवी और दो बच्चे हैं जिनमें से उनका एक बेटा दिव्यांग है।

संजय के परिजन और बैंक के अन्य खाताधारक उनके घर शोक मनाने पहुंचे। लोगों ने संजय का दुख समझते हुए कहा कि संजय की तरह बैंक के अन्य खाताधारक भी इसी तरह चिंतित हैं

उन सब के इस बैंक में कई अकाउंट हैं। क्रोध और दुख से भरे इन लोगों ने सरकार और आरबीआई से जल्द से जल्द समस्या का समाधान खोजने की गुज़ारिश की है।

रियल एस्टेट फर्म एचडीआईएल द्वारा पीएमसी बैंक से ₹4355 करोड़ का ऋण लिया गया था जिसके चलते इस पीएमसी बैंक घोटाले की शुरुवात हुई। इसके पश्चात बैंक पर आरबीआई और केंद्रीय सरकार द्वारा कई पाबंदियां लगाई गई थीं।

23 सितंबर को केंद्रीय बैंक ने पीएमसी बैंक जमाकर्ताओं केलिए छह महीने में रकम निकासी की सीमा 1000 रुपए तय की थी।

इस फैसले को देश भर से बेहद आलोचना प्राप्त हुई थी। आरबीआई के नए फैसले में रकम निकासी की सीमा को बढ़ा कर 40,000 रुपए कर दिया है।

जमाकर्ताओं के कुल 11,000 करोड़ रुपए बैंक में जमा हैं जिसके लिए चिंतित हो कर वह पूरे मुंबई में प्रदर्शन कर रहे हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी आरबीआई गवर्नर से लोगों की सहायता करने की अपील की है।

बैंक के पूर्व अध्यक्ष, पूर्व प्रबंध निदेशक और एचडीएल के प्रोमोटरों संग कई अन्य लोगों को भी नवीनतम बैंकिंग धोखाधड़ी के मामले में गिरफ्तार किया गया है। प्रवर्तन निदेशालय ने भी एचडीएल के अध्यक्ष वाधवान भाइयों के खिलाफ धन शोधन का मामला दर्ज किया है।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने भी राज्य चुनाव के प्रचार के दौरान लोगों को आश्वासन देते हुए कहा है कि वह जमाकर्ताओं के पैसे वापिस लाने के लिए हर संभव प्रयास करेंगे।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *