hafiz-saeed-terrorist

पाक को दी गई चार आतंकवादियों को गिरफ्तार करने की चेतावनी

Pakistan to be blacklisted? : वित्तीय कार्रवाई कार्यदल द्वारा पाकिस्तान को ब्लैकलिस्ट किए जाने की बात की जा रही है।

इस सबके बीच यूएस द्वारा पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा गया है कि वह जल्द से जल्द अपनी मिट्टी पर विकसित आतंकी दलों और उनके लीडर हाफ़िज़ सईद के खिलाफ मुकदमा शुरू करें।

उन्होंने पाकिस्तान को लश्कर – ए – तैयबा जैसे अतांकी दलों को अभियुक्त करने को कहा है।

यूएस स्टेट डिपार्टमेंट के साउथ और सेंट्रल एशियन ब्यूरो की मुख्य एलिस वेल्स ने पहले भी लश्कर – ए – तैयबा के चार मुख्य लीडरों को गिरफ्तार करने की बात की थी।

जिसके चलते पाकिस्तान कि कानून प्रवर्तन एजेंसी द्वारा इन चार लीडरों को आतंकवादी वित्तपोषण के तहत गिरफ़्तार किया गया था।

ये भी पढ़ें : सोमवार से कश्मीर में शुरू की जाएंगी पोस्टपेड संपर्क सेवाएं

इन चार लीडरों की पहचान है – प्रोफेसर जफ़र इक़बाल, याह्या अज़ीज़, मुहम्मद अशरफ़ और अब्दुल सलाम।

वेल्स ने अपने ट्वीट में बताया कि प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी अपने सुरक्षित भविष्य के लिए पाकिस्तान की धरती पर संचालित आतंकवादी समूहों को मिटाने की बात की थी।

एलिस ने पाकिस्तान को इस जीत पर बधाई देते हुए कहा कि लश्कर – ए – तैयबा के शिकार हुए लोगों को अब अपने मुजरिमों और उनकी लीडर हफीज़ सईद के ख़िलाफ़ मुक़दमा चलते हुए देखने को मिलेगा।

पिछले साल जून में पेरिस के एक प्रहरी द्वारा पाकिस्तान को ‘ ग्रे लिस्ट’ में डालने की बात की गई थी। जिसके चलते उन्हें एक कार्य योजना सौंपी गई थी।

अगर वह अक्टूबर 2019 तक इसे करने में असफल रहेंगे तो उन्हें भी ईरान और नॉर्थ कोरिया के साथ ब्लैक लिस्ट में डाल दिया जाएगा।

पिछली कई वर्षों से पाकिस्तान पर आतंकवाद को आश्रय देने के आरोप लगाए जा रहे हैं। विश्व भर के देशों के साथ शांति बनाए रखने के लिए पाकिस्तान को अब कई बड़े कदम उठाने पड़ेंगे।

पाकिस्तान के व्यवहार को देखते हुए यह तय किया जाएगा की उसे ग्रे लिस्ट में रखा जाए या ब्लैक में और या फिर क्लीन चिट दे दी जाए।

ये भी पढ़ें : भारत को मिला पहला राफेल विमान

पिछले महीने भी वेल्स द्वारा पाकिस्तान को सईद और मसूद अज़हर पर मुकदमा चलाने को कहा गया था। सीमा पर घुसपैठ की वजह से इंडो – पाक रिश्तों में बेहद तनाव देखा जाता है। इसलिए इस्लामाबाद के इस विषय पर सख्त कदम उठाने से ही स्थितियों में बदलाव आएगा।

भारत द्वारा जम्मू कश्मीर में आर्टिकल 370 को रद्द करने के बाद से दोनों देशों के बीच तनाव और भी बढ़ गया है।

भारत के इस फैसले के जवाब में पाकिस्तान ने भारतीय राजदूत को निष्कासित कर दिया था जिससे भारत और पाक के बीच संबंध और भी कमज़ोर हो गए हैं।

पाकिस्तान कश्मीर के मुद्दे का अंतर्राष्ट्रीयकरण करने का प्रयास कर रहा है परन्तु दिल्ली इसे एक ‘ आंतरिक मामला ‘ बताता है।

2008 में हुई मुंबई हमलों के लिए सईद को ही ज़िम्मेदार माना जाता है। इस हमले ने पूरे विश्व को हिला कर रख दिया था। कुल 166 भारतीय और विदेशी पर्यटक इस हमले में मारे गए थे।

सईद को अमरीकी ट्रेजरी विभाग द्वारा वैश्विक आतंकवादी घोषित कर दिया गया है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *