Neem ke Fayde in Hindi
  • Save

Neem ke Fayde in Hindi-नीम केऔषधीय गुण

आपने सुना होगा कि नीम के बहुत फायदे Neem ke Fayde in Hindi होते है। लेकिन क्या फायदे होते है ये शायद कम ही लोगों को पता होगा। उनमे से कुछ फायदे जो हम आपको बताने जा रहे है। जिन्हे जानकर आप भी हैरान रह जायेंगे। तो आइये जानते है

नीम के फायदे (Neem ke Fayde in Hindi)

ततैया (Wasp) या बिच्छू (Scorpion) जैसे कीटों के काट लेने पर, नीम के पत्तों को पीस कर लेप बना लें।

उस लेप को काटे गए स्थान पर लगा लें इससे राहत मिलेगी और जहर (Poison) भी नहीं फैलता।

नीम के डंठल में, खांसी, बवासीर, प्रमेह और पेट में होने वाले कीड़ों को खत्म करने के गुण होते हैं।

इसे प्रतिदिन चबाने या फिर उबालकर पीने से लाभ होता है।

खुजली या दाद (Herpes itch) होने पर पत्त‍ियों को दही के साथ पीसकर लगायें।

दाद, खुजली की समस्या समाप्त हो जाती है।

नीम Neem ke Fayde in Hindi की दातून का इस्तेमाल करें।

इससे पायरिया(Pyria) दूर होगा और और दांतों को मजबूती मिलेगी। 

नीम की पत्तियों के काढ़े से कुल्ला करने पर दांत व मसूढ़े स्वस्थ रहते हैं, और मुंह से दुर्गंध (Smell) भी नहीं आती।

कील मुहांसे (Nail Acne) होने पर नीम की छाल को पानी में घिसकर लगाने से फायदा होता है।

त्वचा रोग (Skin Disease) के कीटाणु नष्ट करने के लिए नीम की पत्त‍ियों का लेप करें।

नीम के तेल में कपूर (Camphor) मिलाकर त्वचा लगाने से भी फायदा होता है ।

किसी प्रकार का घाव (Wound) हो जाने पर भी नीम के पत्तों का लेप लगाने से लाभ मिलता है।

गुर्दे की पथरी (Kidney Stone) होने की स्थिति में नीम के पत्तों 2 ग्राम राख रोजाना पानी के साथ लेने पर पथरी गलने लगती है।

मलेरिया (Malaria) बुखार होने पर नीम की छाल को पानी में उबालकर काढ़ा बना लें।

सुबह दोपहर और रात को 2 चम्मच यह काढ़ा पीने से यह बुखार (Fever) में राहत मिलती है और कमजोरी (Weakness) भी ठीक होती है।

सिरदर्द(Headache) दांत दर्द(Toothache) हाथ-पैर दर्द होने पर नीम के तेल की मालिश से लाभ मिलता है।

ये भी पढ़ें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Share via
Copy link
Powered by Social Snap