General Tips & Advice

How to Stop Snoring in Hindi | खर्राटे बढ़ा सकते हैं आपकी मुश्किलें

How to Stop Snoring in Hindi

451 total views, 1 views today

वैसे तो नींद से जुड़ी समस्याएं कई हो सकती हैं। किन्तु खर्राटे आना सबसे आम है। यह खुद के साथ-साथ अन्य लोगों को भी दिक्कत देती है।

क्यों आते हैं खर्राटे

खर्राटे How to Stop Snoring in Hindi सांस में रुकावट पैदा होने से जीभ के पिछले भाग, तालु, टॉन्सिल के किनारो के कम्पन से पैदा होने वाली एक प्रकार की आवाज है।

जिन लोगो के ये अंग ज्यादा मांसल होते हैं उनमे आवाज ज्यादा पैदा होती है।

मोटे लोगों, पुरुषो व उम्र बढ़ने के साथ-साथ ज्यादा आते हैं।

Tips for Night Shift Workers in Hindi | सेहत का ध्यान रखने के तरीके

हो सकती है गंभीर बीमारी

कई बार खर्राटे सामान्य होते हैँ तो कई बार गंभीर बीमारी की ओर इशारा करते हैं।

ओब्सट्रक्टिव स्लिप एपनिया के लक्षण हो सकते है जिसमें शरीर को ऑक्सीजन नहीं मिल पाती जिनके बाद सतर्क होना जरूरी है।

हाई ब्लडप्रेशर, हृदय संबंधी बीमारियों के दुस्प्रभाव हो सकते हैं।

यह हैं गंभीर लक्षण

यदि रात में सांस न ले पाने या दम घुटने की वजह से बार-बार नींद उखड़ती रहती है।

नींद कई टुकडों में आती है।

लेकिन प्राय: इसका स्वयं मरीज को पता ही नहीं चलता। इसे परिवार के लोग समझ सकते हैं।

नींद से जागने के बाद भी सुबह तरोताजा महसुस न हो बल्कि थकान, सिरदर्द, व आलस्य से घिरे रहते हो।

दिन भर उनींदे रहते हो। दिन में काम करते-करते आंख लग जाती हो।

जैसे ऑफिस में, कही भी बात करते-करते, खाना-खाते ही आदि।

खर्राटे How to Stop Snoring in Hindi की आवाज से दूसरो को इतनी दिक्कत हो कि जीवन साथी ही दूसरे कमरे में सोने को विवश हो जाए।

नींद में खर्राटे के दौरान बीच-बीच में सांस लेने के लिए रूकते हों।

शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए जरुरी नींद ही खर्राटे की वजह से सबके लिए बन जाती है।

निम्न बातें करेगी मदद

  • पीठ के बल सीधे सोने की बजाय एक तरफ करवट लेकर लेटना चाहिए।
  • मोटापा कम कर वजन संतुलित करना चाहिए।
  • शराब सेवन व नींद की गोलीयों से बचिए। ये चीजें गले व तालु की मांसपेशियों को शिथिल कर देती है जिससे कंपन बढ़ जाते हैं।
  • नींद के चक्र को व्यवस्थित रखिए। इसके लिए रोजाना नियमित समय पर सोना एवं उठना चाहिए।
  • रात्रि को गरिष्ठ भोजन, चाय, कॉफी लेने से बचना चाहिए।
  • एलर्जी व जुकाम को नियंत्रण में रखिए।

ये व्यायाम हैं फायदेमंद

गर्दन के मूवमेंट वाली एक्सरसाइज करने से गर्दन की मांसपेशियों में फ्लेक्सिब्लिटी बढ़ती है। इसलिए वह करना चाहिए।

कपाल भाति, अनुलोम विलोम जैसे प्राणायाम करने से भी खर्राटों How to Stop Snoring in Hindi को नियंत्रित करने में मदद मिलती है।

ये भी पढ़ें

Comment here