How to Stop Snoring in Hindi

खर्राटे बढ़ा सकते हैं आपकी मुश्किलें

वैसे तो नींद से जुड़ी समस्याएं कई हो सकती हैं। किन्तु खर्राटे आना सबसे आम है। यह खुद के साथ-साथ अन्य लोगों को भी दिक्कत देती है।

क्यों आते हैं खर्राटे

खर्राटे सांस में रुकावट पैदा होने से जीभ के पिछले भाग, तालु, टॉन्सिल के किनारो के कम्पन से पैदा होने वाली एक प्रकार की आवाज है।

जिन लोगो के ये अंग ज्यादा मांसल होते हैं उनमे आवाज ज्यादा पैदा होती है। मोटे लोगों, पुरुषो व उम्र बढ़ने के साथ-साथ ज्यादा आते हैं।

हो सकती है गंभीर बीमारी

  • कई बार खर्राटे सामान्य होते हैँ तो कई बार गंभीर बीमारी की ओर इशारा करते हैं।
  • ओब्सट्रक्टिव स्लिप एपनिया के लक्षण हो सकते है जिसमें शरीर को ऑक्सीजन नहीं मिल पाती जिनके बाद सतर्क होना जरूरी है।
  • हाई ब्लडप्रेशर, हृदय संबंधी बीमारियों के दुस्प्रभाव हो सकते हैं।

यह हैं गंभीर लक्षण

  • यदि रात में सांस न ले पाने या दम घुटने की वजह से बार-बार नींद उखड़ती रहती है।
  • नींद कई टुकडों में आती है।
  • प्राय: इसका स्वयं मरीज को पता ही नहीं चलता। इसे परिवार के लोग समझ सकते हैं।
  • नींद से जागने के बाद भी सुबह तरोताजा महसुस न हो बल्कि थकान, सिरदर्द, व आलस्य से घिरे रहते हो।
  • दिन भर उनींदे रहते हो। दिन में काम करते-करते आंख लग जाती हो।

निम्न बातें करेगी मदद

  • पीठ के बल सीधे सोने की बजाय एक तरफ करवट लेकर लेटना चाहिए।
  • मोटापा कम कर वजन संतुलित करना चाहिए।
  • शराब सेवन व नींद की गोलीयों से बचिए। ये चीजें गले व तालु की मांसपेशियों को शिथिल कर देती है जिससे कंपन बढ़ जाते हैं।
  • नींद के चक्र को व्यवस्थित रखिए। इसके लिए रोजाना नियमित समय पर सोना एवं उठना चाहिए।
  • रात्रि को गरिष्ठ भोजन, चाय, कॉफी लेने से बचना चाहिए।
  • एलर्जी व जुकाम को नियंत्रण में रखिए।

ये व्यायाम हैं फायदेमंद

  • गर्दन के मूवमेंट वाली एक्सरसाइज करने से गर्दन की मांसपेशियों में फ्लेक्सिब्लिटी बढ़ती है। इसलिए वह करना चाहिए।
  • कपाल भाति, अनुलोम विलोम जैसे प्राणायाम करने से भी खर्राटों को नियंत्रित करने में मदद मिलती है।

खर्राटों के घरेलू उपचार/Home Remedies for Snoring

जैतून का तेल- सोने जाने से पहले आप 2-3 घूंट जैतून का तेल पी सकते हैं। यह खर्राटों को कम करने में सहायक है। यह खर्राटों के लिए एक धीमा लेकिन प्रभावी घरेलू उपाय है। यह खर्राटों के शोर को कम करने में भी मदद करता है

नीलगिरी का तेल- नीलगिरी के तेल की कुछ बूँदें अपने तकिये के ऊपर डाल दें, इसकी महक से आपका नाक का मार्ग साफ हो जाएगा और इस तरह खर्राटों से छुटकारा पाने में मदद मिलती है क्योंकि यह खर्राटों के बेहतरीन घरेलू उपचारों में से एक है।

धूम्रपान- धूम्रपान खर्राटों के सबसे आम कारणों में से एक है। यदि उसे खर्राटों से छुटकारा पाना है तो धूम्रपान नहीं करना चाहिए या कम से कम करना चाहिए।

स्लीपिंग पोस्चर- बहुत कम लोग जानते हैं कि आपकी पीठ के बल लेटने से आपको रात में खर्राटे आने की संभावना बढ़ जाती है? नींद की मुद्रा सबसे महत्वपूर्ण है जो उन लोगों के लिए मायने रखती है जो खर्राटों से पीड़ित हैं। खर्राटों को कम करने के लिए आप करवट लेकर या पेट के बल सो सकते हैं।

वज़न कम करना- वज़न कम करना उन लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण बिंदु है जो खर्राटों से छुटकारा पाना चाहते हैं। आपकी गर्दन और छाती में अत्यधिक वजन मांसपेशियों को दबाव दे सकता है और यह सामान्य श्वास प्रक्रिया को प्रभावित और बाधित करता है। इसलिए एक सामान्य वजन बनाए रखना चाहिए।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *