Beauty Tips In Hindi

How to Remove dark Circles in Hindi | डार्क सर्कल से निजात पाएं

how to remove dark circles in hindi

523 total views, 1 views today

How to Remove Dark circles in Hindi डार्क सर्कल को लेकर अक्सर ही लोग परेशान रहते हैं। राय यही होती है कि नींद पूरी न होने के कारण ऐसा हो रहा है लेकिन इसका असल कारण कुछ और ही है.

आधुनिक जीवन शैली में डार्क सर्कल्स (Dark Circles)होना आम समस्या बन गई है। महिला या पुरूष सभी इस परेशानी से दो-चार होते हैं।

डार्क सर्कल जितने सामान्य हैं उन्हें लेकर भ्रांतियां भी उतनी ही ज़्यादा फैली हुई हैं। यह भी मुमकिन है कि जिसे डार्क सर्कल समझ रहे हैं वह शैडो इफेक्ट हो। जानिए क्या है इसके कारण और कितना अलग है यह शैडो इफेक्ट से।

नींद नहीं है कारण
डार्क सर्कल प्राकृतिक होने के साथ ही आनुवंशिक भी हो सकते हैं।

अनियमित दिनचर्या, नींद की कमी, तनाव आदि पर वे उभरकर सामने आ जाते हैं।

यह कहना पूरी तरह सही नहीं है कि नींद की कमी के कारण ये होते हैं लेकिन हां, नींद पूरी न होने पर सामने ये उजागर हो जाते हैं।

देर से सोने और देर से जागने पर हमारी जीवनशैली प्रभावित होती है।

इसका असर हमारी आंखों के साथ-साथ चेहरे और बालों पर भी दिखाई देता है।

इससे चेहरे पर थकान दिखाई देना, आंखों के नीचे सूजन आ जाना और काले घेरे दिखाई देने लगते हैं।

कैसे पहचानें?
शैडो इफेक्ट नींद और खान-पान से नियंत्रित नहीं किया जा सकता है।

इन दोनों के बीच अंतर को एक विशेषज्ञ डॉक्टर ही समझ सकते हैं।

शुरूआती तौर पर पता लगाने के लिए डार्क सर्कल के ऊपर एक टॉर्च जलाएं।

अगर टॉर्च की रौशनी पड़ते ही कालापन गायब हो जाए और बंद करते ही वापस नज़र आए तो यह शैडो इफेक्ट का लक्षण है।

डार्क सर्कल पर टॉर्च की रौशनी का कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता। वह जस का तस बना रहता है।

डार्क सर्कल और शैडो इफेक्ट
कई लोग शैडो इफेक्ट को डार्क सर्कल समझ लेते हैं। शैडो इफेक्ट त्वचा में कोलैजन नामक प्रोटीन की कमी से होता है।

कोलैजन त्वचा को ढीली नहीं होने देता।

उम्र बढ़ने या दूसरे कई कारणों से हमारी त्वचा पर दाग़ पड़ने लगते हैं और त्वचा ढीली होने लगती है।

इस कारण आंखों के नीचे कालापन आने लगता है। यह शैडो इफेक्ट है।

इसे ठीक करने के लिए फिलर जैसी कॉस्मेटिक थैरेपी अपनाई जाती है जिसमें शैडो इफेक्ट वाली जगहों पर कोलैजन टिश्यू भरा जाता है।

क्या करें?

डार्क सर्कल पूरी तरह नहीं हटाए जा सकते हैं। हालांकि इनका प्रभाव कुछ कम किया जा सकता है।

त्वचा को ठंडक की ज़रूरत होती है जो इन चीज़ों से मिल सकती है- खीरा, आइस बैग, टी बैग, छिले आलू आदि को ठंडा कर प्रभावित जगह पर रखें।

विटामिन ई युक्त तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। सोने का रूटीन कायम करें।

ज़्यादा पास से टीवी देखने, दिनभर कम्प्यूटर पर काम करने और तनाव आदि से आंखों के नीचे डार्क सर्कल उभरने लगते हैं।

आंखों को पर्याप्त आराम दें।

इस पोस्ट को भी पढें :- आंखों के नीचे काले घेरे के कारक ये हैं

Comment here