melanie-coleman-gymnast-dies

एक दुखद हादसे में हुई इस कसरती की भयानक मौत

Melanie Coleman died on Sunday: मेलेनी कोलमैन, एक लाजवाब जिम्नेस्ट (कसरती) और नर्सिंग की छात्र की रविवार को एक भयानक हादसे में मृत्यु हो गई।

दक्षिण कनेक्टिकट स्टेट यूनिवर्सिटी से नर्सिंग की पढ़ाई कर रही मेलेनि शुक्रवार को कसरत का अभ्यास कर रही थी, तभी एक भयानक हादसे ने उनकी जिंदगी को पल भर में ही बदल दिया।

20 वर्षीय कोलमैन, हेमडेन के न्यू एरा जिम्नास्टिक्स सेंटर में असमान सलाख़ों पर कसरत का अभ्यास कर रहीं थी। तभी अचानक एक हादसे में उनकी रीढ़ की हड्डी पर भयानक चोट आ गई। मेलेनि पिछले दस वर्षों से इसी सेंटर में ट्रेनिंग ले रही थीं।

लंबे समय से मेलेनि (Melanie) के कोच रह चुके टॉम अल्बर्ट ने घटना का विवरण करते हुए बताया की यह हादसा बेहद ही अप्रत्याशित था। इसके घटित होने व इसके भयानक परिणाम की किसी ने भी अपेक्षा नहीं की थी।

‘द गो फंड मी’ नाम के पेज ने मेलेनि की अवस्था पर शोक जताते हुए इस घटना को एक दुखद हादसा बताया था। मेलेनि के लिए प्रार्थना करते हुए इस पेज ने केवल दो ही दिन में मेलेनि के लिए $56,000 का चंदा इकट्ठा कर लिया था।

साउदर्न कनेक्टिकट स्टेट यूनिवर्सिटी की प्रमुख कोच मेरी फ्रेडरिक्स ने शोक जताते हुए कहा कि उनकी पूरी टीम इस हादसे से बेहद हैरान और उदास है।

मेलेनि के साहस और काम की प्रशंसा करते हुए मेरी ने कहा कि मेलेनि बेहद परिश्रमी और दयालु लड़की थीं। उन्होंने मेलेनि के परिजनों के लिए साहस और दुआओं की कामना भी की।

13 वर्ष की ब्रॉडवे स्टार लॉरेल ग्रिग्स की हुई दमे के अटैक से मृत्यु

द कनेक्टिकट पोस्ट ने यह भी बताया कि मेलेनि के सभी अंगों को दान कर दिया गया है जिससे की अन्य ज़रूरतमंद मरीज़ों को जीवित रखा जा सकता है।

कोलमैन के परिवार ने भी एक संवाद में कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है उसकी अच्छाई, हंसी और परिहास हमेशा उसके चाहने वालों के साथ रहेगी और ज़रूरतमन्दों को जीवन दान दे कर वह हमेशा अमर रहेगी।

पीडियाट्रिक्स नाम के एक जर्नल ने 2008 में जिम्नास्टिक्स यानी कसरत को सबसे ख़तरनाक महिला खेल घोषित किया था। इस बात में कोई संदेह नहीं है कि इस खेल में कई ख़तरों का सामना करना पड़ता है।

एक अध्ययन के लिए द स्टेट ओहिओ यूनिवर्सिटी और नेशनवाइड चिल्ड्रेन हॉस्पिटल के कुछ विशेषज्ञों ने 6 से ले कर 17 वर्ष की आयु वाले सभी पहलवानों की जांच की थी जिससे यह सामना आया था कि तकरीबन 27,000 जिम्नास्ट हर साल हस्पताल में भर्ती होते हैं। अन्य आंकड़ों के अनुसार जिम्नास्टिक्स के 1000 प्रतिभागियों में 4.8 का वार्षिक चोट दर भी सामना आया था।

गो फंड मी पेज के आयोजकों ने अकाउंट बनाने के अतिरिक्त एक मील ट्रेन का भी प्रबंध किया था जो की इस दुखद घड़ी में मेलेनि के परिजनों को खाना खिलाने का कार्य सँभाल रही थी।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *