Health Topics In Hindi

Facts About Arthritis in Hindi | पैरों पर असर डालने वाला रोग

Facts About Arthritis in Hindi

419 total views, 1 views today

रूमेटाइड आर्थराइटिस (Facts About Arthritis in Hindi) एक जटिल बीमारी है, रूमेटाइड आर्थराइटिस पैरों को भी प्रभावित कर सकता है और यह पंजों के जोड़ों को विकृत कर सकता है। वास्तव में रूमेटाइड आर्थराइटिस से पीड़ित 90 प्रतिशत लोगों के पैरों और टखनों में रोग के लक्षण सबसे पहले दिखाई देने लगते हैं।

सामान्य लक्षण

रूमेटाइड आर्थराइटिस से ज़्यादातर हाथ, कलाई, पैर, टखने, घुटने, कंधे और कोहनियों के जोड़ प्रभावित होते हैं।

इस रोग में शरीर के दोनों तरफ एक जैसे हिस्से में सूजन जलन हो सकती है।

रूमेटाइड आर्थराइटिस के लक्षण समय के साथ अचानक या धीरे-धीरे नजर सकते हैं।

पैरों और हाथों में विकृति आना रूमेटाइड आर्थराइटिस का सबसे सामान्य लक्षण है।

करीब 20 प्रतिशत मरीज़ों में इसके सबसे पहले लक्षण पैरों और टखने में नजर आते हैं।

हालांकि हर व्यक्ति में लक्षण कुछ अलग हो सकते हैं जैसे

  • दर्द अकड़न
  • सुबह के समय जोड़ों में सूजन
  • गतिशीलता कम होना यानी ऐसा दर्द जो जोडों के गति करने के साथ बढ़ जाता हो
  • छोटे जोड़ों पर उभार या गांठ जैसा दिखाई देना
  • जूते बांधने
  • जार का ढक्कन खोलने या शर्ट के बटन बंद करने जैसे रोजमर्रा के काम करने में परेशानी होना
  • थकान महसूस होना।

Depression, Causes,Treatment in Hindi | अवसाद से बाहर कैसे निकलें

रूमेटाइड ऑर्थराइटिस पैर और टखने को कैसे प्रभावित करता है

रैम्प या सीढ़ियां चढ़ने में परेशानी होना टखने की समस्या का पहला लक्षण है।

जैसे-जैसे रोग बढ़ता है सामान्य रूप से चलना और खड़े रहना भी मुश्किल हो सकता है।

पैर में एड़ी का हिस्सा(हिंडफुट)

इस हिस्से का मुख्य काम पैर की साइड टू साइड गतिशीलता को बनाए रखना है।

असमतल जमीन, घास या ग्रेवल पर चलने में परेशानी होना या दर्द होना इसके सामान्य लक्षण हैं।

जैसे-जैसे रोग बढ़ता है, पैर का अलाइनमेंट बिगड़ सकता है।

चूंकि हड्डियां अपनी सामान्य स्थिति से बाहर जाती हैं, इससे फ्लैटफुट जैसी विकृति सामने सकती है।

पैरके ऊपर का हिस्सा(मिडफुट)

रूमेटाइड ऑर्थराइटिस के कारण पैर के ऊपरी हिस्से को सहायता करने वाले लिगामेंट कमजोर हो जाते हैं और इसका आर्च खत्म हो जाता है।

आर्च खत्म होने से तलवे पर प्रभाव पड़ता है और फुट पॉइंट का अग्रभाग बाहर निकल जाता है।

रूमेटाइड ऑर्थराइटिस से उपस्थित कार्टिलेज को भी नुकसान पहुंचता है और इससे दर्द होता है।

यह दर्द जूते पहनने या नहीं पहनने दोनों स्थिति में हो सकता है। समय के साथ पैर की आकृति भी बदल सकती है।

आर्च प्रभावित होने के कारण ऊंगलियों में सूजन हो सकती है।

Headache – Symptoms, Causes in Hindi | यह सिर क्यों दुखता है?

पैरके पंजे और बॉल(फोरफुट)

रूमेटाइड अर्थराइटिस के मरीजों के पैरों के अग्रिम हिस्से में जो बदलाव आता है, वह पड़ा स्पष्ट होता है।

इससे पैरों में गोखरू, पंजे का फैलना और पैरों की बॉल्स में दर्द जैसी समस्याएं हो सकती है।

जॉइंट फ्यूजन सर्जरी 

रूमेटाइड ऑर्थराइटिस के गंभीर मामलों में शल्य क्रिया आखिरी विकल्प बच जाता है।

विशेषकर तब जब दवाइयां, फिज़ियोथैरेपी आदि उपचार काम करें।

ये जानना भी ज़रूरी

* रूमेटाइड आर्थराइटिस एक जटिल रोग है जो जोड़ों में सूजन और जलन पैदा करता है।

* रूमेटाइड आर्थराइटिस के कारण उंगलियों के जोड़ों में विकृति सकती है और इससे इनका मूवमेंट मुश्किल हो सकता है।

* आर्थराइटिस के इस रोग में अधिकांशत: हाथ, कलाइयां, पैर, टखने, घुटने, कंधे और कोहनियों के जोड़ प्रभावित होते हैं।

* शुरूआती अवस्था में दवाइयां, खपच्ची बांधना, फिज़ियोथैरेपी, सही जूता पहनना जैसे उपचार किए जाते है। लेकिन गंभीर अवस्था में शल्य क्रिया की ज़रूरत पड़ सकती है। इंजेक्शन से भी अस्थाई आराम मिल सकता है।

Comment here