Facebook New Guidelines

मैसेंजर और मैसेजिंग एटिकेट के लिए फेसबुक की नई गाइडलाइन्स

 

Facebook New Guidelines : फेसबुक मैसेंजर टीम ने हाल ही यूके, यूएस और ऑस्ट्रेलिया में 3500 से ज्यादा लोगों पर आधारित यह सर्वे किया कि मैसेजिंग में क्या करना चाहिए और क्या नहीं, इस पर उनकी राय मांगी।

इसके बाद टीम ने डिब्रेट्स के साथ पार्टनरशिप की जिसे Modern Etiquette (आधुनिक शिष्टाचार या तहजीब) की जानी-मानी कंपनी माना जाता है।

इसी के आधार पर फेसबुक ने पहली औपचारिक मैसेजिंग गाइड प्रकाशित की जिसके प्रमुख बिंदु इस प्रकार हैं-

शेयर करने में सावधानी रखें

किसी मैसेज को तब तक Third Party को फॉरवर्ड न करें जब तक कि ओरिजिनल सेंडर ने उसकी इजाजत न दी हो या आपसे ऐसा करने को न कहा हो। अगर संदेह हो तो पहले पूछ लें।

इसी तरह दूसरे लोगों की निजी जानकारियों को ग्रुप चैट में न डालें। किसी मित्र के डेटिंग अनुभवों के बारे में सार्वजनिक तौर से पूछताछ करना उनको एक्सपोज और शर्मिंदा कर सकता है। दुनिया के आधे से ज्यादा रेस्पॉन्डेंट्स, फ्रेंड्स के टेक्स्ट्स दूसरों को फॉरवर्ड करने को अशिष्टाचार (बैड एटिकेट) मानते हैं।

facebook messenger
Facebook New Guidelines

किसी को जवाब के लिए न अटकाएं

जब शेयर किए गए सवाल या कमेंट का जवाब नहीं मिलता तो Sender मायूस हो जाते हैं। यदि आपके ग्रुप के किसी सदस्य ने कोई मैसेज भेजा और उसका कोई जवाब नहीं आया तो उन्हें अटपटा सा लगेगा।

अत: कुछ न कुछ जवाब दें जैसे या तो मैसेज को लाइक कर दें या बताएं कि आप उसका जवाब नहीं जानते। ऐसे में दूसरे भी जवाब देने का मन बना लेंगे।

यदि आप खुद अपने मैसेज के जवाब का इंतजार कर रहें हैं तो 24 घंटे बाद हल्की टोन (जस्ट चेकिंग इन..) में फॉलोअप करें।

ये भी पढ़ें : एप्पल द्वारा HKmap.live ऐप को स्टोर से हटाया गया

मैसेज संक्षिप्त हो, बहुत छोटा नहीं

कम वाक्यों में मैसेज पूरा करें, खासकर जिन लोगों को आप अच्छी तरह नहीं जानते, उनके लिए। Texts में लंबे पैराग्राफ्स होंगे तो रिसिपिएंट सोच में पड़ जाएगा कि इतनी लाइन्स में जवाब कैसे दिया जाए। ऐसे में टेक्स्ट की बजाए वीडियो चैट करना बेहतर होगा।

दूसरी तरफ, बार-बार एक शब्द वाले मैसेजेज या सिंगल इमोजी भेजने से दूसरे व्यक्ति को लगेगा कि आप बहुत बिजी हैं या ज्यादा रुचि नहीं ले रहे, अतः जब तक आप साइन ऑफ नहीं कर लेते या एक्नॉलेजमेंट नहीं भेज देते, तब तक मैसेज में विनम्रता के साथ एक छोटा सा वाक्य जरूर भेजें।

ऑडिएंस को समझें

ग्रुप चैट में Invite करने पर मैसेज करने से पहले अच्छी तरह चेक कर लें कि उसमें कौन-कौन लोग शामिल हैं। अपनी ऑडिएंस को जाने-पहचाने बिना आप मूर्खता के जाल में फंस सकते हैं।

जिन जोक्स या रेफरेंसेज में दूसरे शामिल न हों, उन्हें नजरअंदाज कर दें। संवाद बहुमत के लिए प्रासंगिक होना चाहिए।

अगर आप Individual Arangements करना चाहते हैं तो एक अलग मैसेज एक्सचेंज शुरू करें। दुनिया के 42% रेस्पॉन्डेंट्स को 6 लोगों तक के ग्रुप में चैट करना पसंद है।

मैसेजेज को इग्नोर करना छोड़ें

किसी सेंडर के मैसेजेज को इग्नोर करते जाना घोस्टिंग माना जाता है जिससे बिना बात चिंता और अनिश्चितता पैदा होती है।

अगर मैसेजिंग में आपकी रुचि कम होती जा रही हो तो बिना सूचना दिए सभी मैसेजेज को बंद न करें।

इसके अलावा अगर आप आपसी संवाद को खत्म करना चाहते हैं तो खुले तौर पर विनम्र स्पष्टीकरण के साथ करें। किसी को डेट कर रहे हैं या कुछ दिन से मेल-मुलाकात है तो उसे कॉल करें या व्यक्तिगत तौर पर मिलकर बताना बेहतर होगा।

मल्टी-मैसेजेज न करें

अगर एक मैसेज ही पर्याप्त है तो 4-5 मैसेजेज नह भेजें, क्योंकि इनसे रिसिपिएंट का ध्यान बंटेगा और उसकी परेशानी बढ़ सकती है और वह न चाहते हुए भी आपके फोन को नजरअंदाज करेगा।

ग्रुप चैट करते हुए भी इस बात का ध्यान रखें कि इस पर एक ही समय में कई मैसेजेज भेजना, ग्रुप के दूसरे सदस्यों को असमंजस में डाल सकता है।

इस स्थिति में अगर कोई अपना फोन कुछ देर के लिए रख देता है तो उस पर कई मैसेजेज आ जाते हैं और फिर उन्हें चेक करना उसकी मजबूरी हो जाती है जो दूसरे यूजर्स के लिए परेशानी का सबब बनती है।

Quick Reply की आदत डालें

मैसेजेज का तुरंत जवाब देना ईमानदारी दर्शाता है। हालांकि जब व्यस्तता के बीच आपको लगता है कि मैसेजेज अर्जेंट नहीं हैं तो उन्हें टाइम मिलने तक बिना पढ़े (अनरेड) ही रहने दें।

विकल्प के तौर पर Push Notifications को टर्न ऑन कर दें। इससे आप उन्हें अपनी स्क्रीन पर प्रिव्यू कर सकेंगे और दूसरे को पता भी नहीं चलेगा कि आपने उसका मैसेज देख लिया है।

ऐसे में आप अपनी सुविधानुसार रिप्लाई कर सकेंगे जिसके लिए अनरेड नोटिफिकेशन एक रिमाइंडर का काम करता है।

Chat Exit के बजाए म्यूटिंग करें

फैमिली चैट में खान-पान संबंधी सैकड़ों फोटोज देखने या किसी बड़ी हस्ती की वेडिंग तैयारियों की अपडेट्स से ऊब गए हों तो एग्जिट करने से पहले प्लान करें।

सच्चाई बयां करने वाला छोटा स्पष्टीकरण दें

जैसे-” फ्रेंड्स मैं तय समय-सीमा में कुछ जरूरी काम करने के लिए कुछ दिन फोन से दूर रहना चाहता हूं, इसलिए आपके मैसेजेज का जवाब नहीं दे पाऊंगा।

ध्यान रखें आपकी अनुपस्थिति केवल अस्थाई हो, कुछ समय बाद फिर से मैसेजिंग शुरू करने के लिए तैयार रहें।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *