mole vs skin cancer

क्या अंतर है साधारण तिल और मेलेनोमा में?

एक साधारण तिल और मेलेनोमा के बीच किसी एक को पहचानना बेहद मुश्किल कार्य है। यहां तक कि त्वचा विशेषज्ञ के लिए भी यह आसान कार्य नहीं है। इसलिए कभी भी आपको इस प्रकार का कोई संदेह हो तो जल्द से जल्द अपने डॉक्टर को संपर्क करें।

आज हम आपको कुछ तस्वीरों के साथ एक साधारण तिल, सौम्य तिल व मेलेनोमा के बीच का अंतर बताएंगे, जिससे आपको इसे पहचानने में अधिक सहायता प्राप्त होगी।

साधारण तिल (नेवस)


नेवस एक सौम्य यानी गैर कैंसरयुक्त ट्यूमर है जिसे साधारण भाषा में तिल भी कह जाता है। नेवस जन्म के समय नहीं पाया जाता। अक्सर यह बच्चों और किशोरावस्था में देखा जाता है।

अधिकतर तिल से कोई खास नुकसान नहीं पहुँचता परंतु किसी व्यक्ति में 50 से अधिक साधारण तिल होना या 5 असामान्य तिल मौजूद हों, तो वह खतरे की बात हो सकती है।

इस तरह के मनुष्यों में मेलानोसाइटिक ट्यूमर होने की आशंका बढ़ जाती है। मेलेनोमा त्वचा के कैंसर का एक बेहद आक्रामक रूप है।

ये भी पढ़ें : कैसे करें अपने बच्चे की गलत तरीके से सोने की आदत को दूर

मेलानोमा : अनियमित आकार


इस तस्वीर से यह देखा जा सकता है कि मेलेनोमा ट्यूमर का आकार अक्सर अनियमित होता है और यह बहुरंगी होता है।

जितनी जल्दी इस कैंसर को पहचान लिया जाए इसका इलाज भी उतना ही बेहतर और आसान हो जाता है। मासिक आत्म – विश्लेषण इस बीमारी को पहचानने में सहायता कर सकता है।

अक्सर आकार और रंग में बदलाव ही मेलेनोमा का पहला संकेत होता है। एबीसीडीइ नियम से हम याद रख सकते हैं कि हमें किन आवश्यक संकेतों को पहचानना चाहिए।

साधारण तिल: पूरी तरह गोल


साधारण तिल अक्सर पूरी तरह गोल आकार का होता है। वहीं दूसरी तरफ मेलेनोमा अधिकतर विषम आकार के देखे जाते हैं।

अधिकतर तिल गैर कैंसरयुक्त होते हैं परन्तु कई अलग प्रकार के तिलों के कैंसर में बदलने की आशंका ज़्यादा होती है।

करीब 2-8 प्रतिशत यूएस आबादी के लोगों में असामान्य नेवाई देखे जाते हैं। इनका आकार साधारण तिल से कुछ बड़ा होता है और अनियमित सीमाएं होती हैं। इनका रंग भी साधारण तिल से कुछ अलग होता है।

जिन मनुष्यों में असामान्य नेवस देखे जाते हैं और अगर उनके खानदान में पहले भी यह बीमारी पाई गई है तो ज़ाहिर है की ऐसे लोगों में छोटी उम्र में ही मेलेनोमा बनने की आशंका बढ़ जाती है।

ये भी पढ़ें : युवाओं में स्तन कैंसर की जागरुकता को बढ़ाना है आवश्यक

मेलेनोमा : विषम और बदलता आकार


अगर आपके शरीर पर 50 से अधिक साधारण तिल हैं तो आपको उसे  नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और तुरंत ही त्वचा के डॉक्टर को संपर्क करना चाहिए।

और यदि आपके शरीर पर कोई भी तिल नहीं है, तब भी साल में एक बार आपको अपनी त्वचा का आत्म- विश्लेषण करना चाहिए। यदि आपको निम्नलिखित किसी भी संकेत की आशंका होती है तो तुरंत अपने डॉक्टर को बताएं।

  • एक भूरे रंग का भव्य और अनियमित आकार का नया निशान त्वचा पर दिखाई देना।
  • एक साधारण तिल जिसका लगातार रंग गहरा होता जा रहा हो या उसका ग्रंथन कड़क होता नज़र आए।
  • साधारण तिल में संदेहजनक बदलाव आना।
  • अनियमित सीमा वाला घाव नज़र आना, जिसके आसपास लाल, सफ़ेद, काले व नीले रंग के धब्ब्बे मौजूद हों।

साधारण तिल : एक रंग


आप देख सकते हैं कि किस तरह इस तिल का रंग सर्वत्र एक ही है। चारों ओर से एक ही रंग नज़र आता है। इसके विपरित मेलेनोमा में अन्य रंगों की झलक भी देखी जाती है।

मेलेनोमा : असमान सीमा


आप देख सकते हैं कि इस मेलेनोमा ट्यूमर की सीमा असमान व नोकदार है। वहीं इसके विपरित साधारण तिल की सीमा चिकनी और समान होती है।

साधारण तिल : अलग प्रकार के आकार और रंग


साधारण तिल के कई आकार और रंग देखे जाते हैं।

  • एक छोटी झाई की तरह मौजूद त्वचा मलिनिकरण , जिसे मैक्यूल कहा जाता है।
  • भव्य मैक्यूल।
  • त्वचा से हलका उपर उठा हुआ तिल।
  • तिल जिसका रंग फीका पड़ गया हो।

यह सभी बदलाव मेलेनोमा की तरफ संकेत नहीं करते।

मेलेनोमा : एबीसीडीइ नियम


एबीसीडीइ नियम का इस्तेमाल मेलेनोमा ट्यूमर को पहचानने में किया जा सकता है।

ए – एसिमेट्री यानी कि विषमता – एक हिस्से का आकार दूसरे से ना मेल खाना।

बी – बॉर्डर यानी कि सीमा – सीमा का असमान व नोकदार होना।

सी – कलर यानी कि रंग – असमान रंग मौजूद होना। सर्वत्र एक रंग की जगह काले, भूरे व नीले की छाया नज़र आना। मेलेनोमा के आसपास सफ़ेद, लाल और नीला रंग भी पाया जाता है।

डी – डायमीटर यानी व्यास – 6 मिलीमीटर से अधिक व्यास नज़र आना।

इ – इवोलविंग यानी उद्विकासी – तिल के आकार, रंग और रूप में निरंतर बदलाव दिखाई देना। उसके आकार का निरंतर बड़ते जाना और ग्रंथांट का कड़क होना। त्वचा पर खुजली होना या खून निकलना आदि भी इसकी तरफ संकेत करते हैं।

अगर आपको यह सभी संकेत नज़र आते हैं तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

साधारण तिल: चिकनी सीमा


साधारण तिल के अन्य उदाहरण :

  • 1-2 व्यास का त्वचा मलिनिकरण
  • भव्य त्वचा मलिनिकरण
  • त्वचा से थोड़ा उपर उठा हुआ तिल
  • त्वचा से अधिक उपर उठा हुआ तिल
  • गुलाबी रंग का तिल

यह सभी तिल साधारण माने जाते हैं। इन सभी की सीमा समान और चिकनी होती है और साधारण त्वचा से निर्मलता से अलग दिखाई पड़ते हैं ।

मेलेनोमा : आकार में परिवर्तन


यह आख़िरी तस्वीर मेलेनोमा ट्यूमर की है जो कि भव्य है समय के साथ आकार में बढ़ रहा है।

याद रखें की सही समय पर इसकी पहचान करने से आप इसका बेहतर इलाज प्राप्त कर सकते हैं। इसलिए इन सभी संकेतों को ध्यान में रखते हुए निरंतर अपनी त्वचा का आत्म विश्लेषण करते रहें और सूर्य की किरणों से स्वयं की रक्षा करें।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *