Dark Circles Under Eye In Hindi

आंखों के नीचे काले घेरे | Dark Circles Under Eye In Hindi

आंखों के नीचे कालापन Dark Circles Under Eye In Hindi या काले घेरे सौंदर्य में बाधक होते हैं। इन्हें दूर करने का एक ही तरीका समझ में आता है। कि किसी क्रीम या पाउडर की मदद से इन्हें छुपा दें, ढंक दें। लेकिन यह जानना ज़्यादा लाभकारी होगा कि ये काले घेरे होते ही क्यों हैं। अगर कारक दूर कर दिए, तो ये घेरे भी चले जाएंगे।

कम सोना आंखों को नहीं पसंद

नींद की कमी से आंखों में थकान साफ दिखती है| और इसी वजह से आंखों के नीचे काले घेरे आने लगते हैं।

थकान शरीर को और दिल को सुस्त कर देती है। आप निढाल भी कह सकते हैं, जिससे रक्त संचरण प्रभावित होता है। इसी तरह बहुत देर सोने से आंखों ने नीचे फूलापन आ जाता है।

बहुत देर तक लेटे रहने के कारण चेहरा फूल जाता है। इसलिए नींद न कम हो, न ज़्यादा। सात घंटे की गहरी नींद शरीर के लिए मुफ़ीद है।

How to Remove dark Circles in Hindi | डार्क सर्कल से निजात पाएं

कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स के कारण एलर्जी

आंखों की सज्जा के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले सौंदर्य प्रसाधन जैसे लाइनर, काजल, मस्कारा, आई शैडो आदि से एलर्जी हो जाने के कारण भी कई बार आंखों के इर्द-गिर्द कालापन Dark Circles Under Eye In Hindi आ जाता है।

आंखों के नीचे की त्वचा बहुत नाज़ुक होती है | और बार-बार रगड़ने के कारण त्वचा को नुकसान पहुंचता है।

अत: जो भी उत्पाद चुनें, बहुत ध्यान से चुनें। इनको जिन वस्तुओं से बनाया गया है, उन्हें जांच लें ताकि एलर्जी से बच सकें।

नमक भी पानी रोक लेता  है

अगर आप भोजन में अधिक नमक खाने के शौकीन हैं, तो भी आंखों के नीचे फूलापन आ सकता है।

नमक की विस्कॉसिटी पानी से अधिक होती है। इसलिए यह पानी को खींचता है। इसी वजह से जब भी शरीर में पानी कम होगा, वह फूलने लगता है। बचने के लिए भोजन में नमक को सीमित रखें और ख़ूब पानी पिएं।

Home Remedies for Dry Hair in Hindi | बेजान बालों को कहें अलविदा

धूप भी एक कारक है

सूर्य की किरणें शरीर के लिए आ‌वश्यक हैं, लेकिन अगर धूप तेज़ हो और त्वचा में मेलानिन ज़्यादा, तो टैनिंग यानी कालापन आने लगता है।

चेहरे पर धूप जब पड़ती है, तो त्वचा की नमी को सोखकर, टैन कर देती है। जब भी धूप में निकलें तो सनस्क्रीन लगा लें। अगर इससे एलर्जी हो, तो छाता लेकर निकलें।

आयरन की कमी

जब शरीर में लौह तत्व कम होता है, तो कोशिकाओं को ऑक्सीज़न कम पहुंचती है। एनीमिया के मरीज़ों के चेहरे इसी वजह से पीले दिखते हैं। थकान की भी यही वजह है। भोजन में आयरन तत्व को कम न होने दें।

 

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *