Chaulai Ke Fayde In Hindi

चौलाई खाने के फायदे जिन्हे जानकार चौंक जायेंगे आप

Chaulai Ke Fayde In Hindi :हरी सब्जियाँ जैसे पालक,सरसों, बथुआ आदि सेहत के लिए बहुत ही लाभदायक होती है।और ज्यादातर लोग इन्हे पसंद भी करते हैं। चौलाई भी इन्ही में से एक है चौलाई के फायदों के बारे में जानते हैं।

चौलाई (Amaranth) के गुण

  • आँखों के लिए चौलाई बहुत लाभदायक होती है।
  • चौलाई की भाजी खून की कमी को पूरा करती है और खून साफ़ भी करती है।
  • कैल्शियम, फॉस्फोरस, विटामिन ‘ए’ और ‘सी’ जैसे तत्व भरपूर मात्रा में होते हैं।
  • स्त्रीरोगों जैसे श्वेतप्रदर, रक्तप्रदर, में भी चौलाई अत्यंत गुणकारी होती है।
  • शीतपित्त, गठिया, पुराना बुखार, हृदय रोग, और बाल झड़ना इन सभी समस्याओं के लिए चौलाई बहुत लाभकारी है।

प्रतिरक्षा प्रणाली (Immune System)

  • अगर शरीर की रोग प्रतिरोधक प्रणाली कमजोर है। तो इसको बढ़ाने में चौलाई हमारे शरीर की मदद करती है।
  • चौलाई में एंटी ऑक्सीडेंट, विटामिन, और खनिज होते है। जो शरीर की  प्रतिरक्षा प्रणाली को ठीक करने में मदद करती है।

सूजन कम करे (Swelling)

  • चौलाई के तेल में एंटी-इफ्लेमेंटरी गुण होता है जो सूजन और दर्द में राहत देता है।

बालों के लिए

  • यह आपके बालों को समय से पहले सफ़ेद होने से बचाती है। चौलाई को खाने में शामिल करेंगे तो आप इस समस्या से मुक्ति पा सकते है।

एनर्जी (Energy)

  • चौलाई (Chaulai) में लाइसिन अच्छी मात्रा में होता है। यह कैल्शियम को अवशोषित करने में हमारे शरीर की मदद करता है।
  • मांसपेशियों के निर्माण और ऊर्जा के लिए चौलाई बहुत लाभकारी है।

पथरी (Calculus)

  • चौलाई गुर्दे की पथरी गलाने में सक्षम होती है। 40-45 दिन रोजाना चौलाई खाने पर पथरी गल जाती है।

फुंसियां (Warts)

  • फोड़े-फुंसियां हो जाये तो इन पर चौलाई के पत्तों से बना पुल्टिस लगाने से ये जल्दी पककर फूट जाते हैं।

कैंसर की रोकथाम- Chaulai Ke Fayde In Hindi

  • चौलाई में मौजूद पेप्टाइड्स कैंसर से रोकथाम में मदद करते हैं। इसमें एंटी ऑक्सीडेंट होते है जो शरीर की कोशिकाओं को क्षति ग्रस्त होने से बचाता है। जिससे कैंसर को रोकने में मदद मिलती है।

वजन कम करने में मदद

शरीर में इंसुलिन के स्तर को प्रभावशाली तरीके से कम करने की क्षमता रखता है। चौलाई पेट भरे रहने के एहसास को बरकरार रखता है। इसलिए चौलाई वजन कम करने वाले लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प माना जाता है।

भाजी और साग के रूप में चौलाई का सेवन किया जाता है। चौलाई में बहुत से औषधीय गुण पाये जाते है। साथ ही इसमें विटामिन सी प्रचुर मात्रा में होता है। इसका सबसे महत्वपूर्ण गुण विषों का निवारण करना है। इसलिए इसे विषदन के नाम से भी जाना जाता है। इसमें सोना धातु पाया जाता है जो किसी और साग-सब्जियों में नहीं पाया जाता।

  • बहुत ज्यादा मात्रा में न खायें।
  • जिन लोगों को शुगर की समस्या हो वो चौलाई का सेवन सावधानी से करें।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *