General Tips & Advice

ठंड में बाजरा खाने के कई चमत्कारी फायदे | Bajra Khane ke Fayde

Bajra Khane ke Fayde

3,057 total views, 1 views today

बाजरा (Pearl Millet) शरीर को गर्म रखने के साथ कई और भी कई और भी समस्याओं को संतुलित करने में सक्षम है जैसे वात, पित्त दोष को भी संतुलित करता है। सर्दियों के मौसम में बाजरा एक ऐसा खाना है, जो सिर्फ स्वादिष्ट ही नहीं है, बल्कि शरीर के लिए इसके अन्य भी कई फायदे हैं।

एनर्जी का स्रोत और आयरन से भरपूर

बाजरे में आयरन प्रचुर मात्रा में होता है। इसलिए इसका सेवन करने से खून में हीमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ती है।

इससे एनीमिया और उस जैसी कई अन्य समस्याओं से भी बचा जा सकता है।

स्टार्च की मात्रा बाजरे में बहुत होती है। चूंकि स्टार्च ग्लूकोज के रूप में टूट जाता है।

इससे हमारे शरीर को धीरे-धीरे ऊर्जा मिलती रहती है और यह लंबे समय तक शरीर को ऊर्जावान बनाए रखता है।

इसमें अमीनो एसिड की भी अच्छी मात्रा होती है। जो मांसपेशियों और शिराओं  की मरम्मत और उनको बनाने के लिए बेहद आवश्यक होता है।

ये भी पढ़ें :- 5 Health Benefits of Clove Oil | लौंग का तेल है फायदेमंद

दिल को रखे हेल्दी, कैंसर रोधी

बाजरा में लिग्निन नामक एक ऐसा तत्व होता हे जो कैंसर रोधी होता है।

भोजन में बाजरे को इस्तेमाल करने से कैंसर की आशंका कम हो जाती है।

बाजरे में  पोटेशियम और मैग्नीशियम भी होते है जोकि ब्लडप्रेशर को नियंत्रित रखने में मदद करते हैं।

इसमें मौजूद विटामिन बी 3 शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को भी नियंत्रित करता है, जिससे दिल की बीमारियों का खतरा कम होता है।

 वजन कम करे, पाचन क्रिया करैं दुरुस्त

जिन लोगों को अक्सर कब्ज़ की दिक्कत बनी रहती है। उन लोगों के लिए बाजरा किसी वरदान से कम नहीं है।

इसमें अघुलनशील फाइबर की अच्छी मात्रा होती है, जो भी बॉउल मूवमेंट को ठीक करता है।

बाजरा पित्त के स्राव को कम करता है। इससे गालब्लैडर में गालस्टोन बनने की आशंका भी कम हो जाती है।

बाजरे से खाना खाने के बाद भूख भी जल्दी नहीं लगती। यह वजन कम करने में मदद करता है।

आयुर्वेद शास्त्र में भी उल्लेख किया गया है कि यह शरीर को गर्म बनाए रखने के साथ वात और पित्त की समस्या को भी संतुलित करता है। बाजरे की रोटियों, ढोकला, खिचड़ी, टिक्की, हलुआ जिनको खुद भी खायें और परिवारजनों को भी खिलाएं।

 शुगर का स्तर ठीक रखे

डायबिटीज़ के रोगियों को अक्सर बाजरा खाने की सलाह दी जाती है।

इसमें मौजूद मैग्नीशियम इंसुलिन के प्रति प्रतिरोध को कम करता है।

इससे शरीर को इंसुलिन का अच्छी तरह से उपयोग में मदद मिलती है।  

बाजरा ग्लूटेन फ्री होता है। कई लोगों को ग्लूटेन से एलर्जी होती है।

सेलिएक नामक रोग से पीड़ित ये लोग गेहूं, जौ, पास्ता, पिज्जा और ओट्स में मौजूद ग्लूटेन नामक प्रोटीन से एलर्जी के कारण यह सब नहीं खा पाते। ऐसे लोगों के लिए बाजरा बहुत उपयोगी है।

 त्वचा और बालों के लिए अच्छा

बाजरे में मौजूद प्रोटीन और विटामिन के कारण यह त्वचा और बालों को हमेशा स्वस्थ बनाए रखता है। इससे त्वचा मुलायम बनी रहती है।

इसलिए भी बाजरा को सर्दी के मौसम में खाने की सलाह दी जाती है।

यह बालों को जड़ से मजबूत बनाता है। साथ ही डैंड्रफ, गंजेपन, सोरायसिस, एक्जिमा जैसी समस्याओं से भी रक्षा करता है।