यूपी पुलिस ने किया कमलेश हत्या केस में 5 संदिग्धों को गिरफ्तार

यूपी पुलिस ने किया कमलेश हत्या केस में 5 संदिग्धों को गिरफ्तार

Lucknow, हिंदी समाज पार्टी के लीडर कमलेश तिवारी की हत्या के जुर्म में पांच संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया गया है। कमलेश की शुक्रवार को उनके घर पर ही कुछ अज्ञात लोगों द्वारा हत्या कर दी गई थी।

यूपी पुलिस के प्रबंध निदेशक ओ पी सिंह ने मीडिया से बात करते हुए बताया की गुजरात और यूपी पुलिस फोर्स के संयुक्त संचालन की वजह से मुजरिमों को पकड़ा जा सका है।

इनमें से 3 मुजरिमों को गुजरात से और बाकी दो को यूपी के बिजनौर जिले से पकड़ा गया है। बिजनूर से गिरफ्तार हुए दोनों मौलवियों का नाम कमलेश की बीवी ने एफआईआर दर्ज करते हुए पुलिस को बताया था।

परंतु पुलिस के मुताबिक दो अन्य लोग जिन्होंने इस जुर्म को अंजाम दिया है, वह अभी तक पुलिस से भाग रहे हैं।

ये भी पढ़ें : हिन्दू समाज पार्टी के लीडर कमलेश तिवारी की हुई हत्या

गुजरात से 24 वर्षीय मौलाना मोहसिन शेख़, 23 वर्षीय रशीद अहमद पठान और 21 वर्षीय फ़ैजन को हिरासत में लिया गया है।

पुलिस के अनुसार रशीद इस पूरे जुर्म के पथप्रदर्शक थे और फ़ैजन द्वारा मिठाई का डब्बा खरीदा गया था जिसकी सहायता से यह मुजरिम कमलेश के घर में धोखे से घुस आए थे।

gb6ednu

डीजीपी ने मीडिया को बताया कि 24 घंटों में उन्होंने केस के कई पहलुओं का पता लगा लिया है। उन्होंने बताया कि शुरुवात से ही उन्हें इस केस के गुजरात से जुड़े होने पर शक था परन्तु सीसीटीवी फुटेज से उनका शक यकीन में बदल गया। सीसीटीवी फुटेज में साफ दिखाई देता है कि डब्बा सूरत की किसी दुकान से खरीदा गया था।

उन्होंने यह भी बताया कि मौके पर मिले मिठाई के डब्बे से उन्हें कई सबूत प्राप्त हुए और गुजरात पुलिस के सहयोग की वजह से वह केस की कढ़ियों को जोड़ पाए।

2015 में कमलेश द्वारा प्रोफेट मोहम्मद के खिलाफ कुछ अपशब्द कहे गए थे। पुलिस का मानना है कि यह हमला उसी का परिणाम है। पुलिस के मुताबिक इनमें से एक मौलवी ने 2016 में कमलेश की हत्या करने वाले को 51 लाख रुपए का ईनाम देने की भी घोषणा की थी।

सीसीटीवी फुटेज में दो आदमी और एक औरत नज़र आते हैं जो की मिठाई के एक डब्बे के साथ कमलेश के घर में प्रवेश करते हैं।

ये भी पढ़ें : बच्चों को स्कूल छोड़ कर आने वाले वाहनों को ऑड इवन नियम से राहत

कमलेश के लिए दीवाली का तौफा लाने का दावा करने वाले यह हत्यारे धोखे से घर में घुस जाते हैं। करीब 36 मिनट व्यतीत करने के बाद यह कमलेश का गला काट कर और उन पर गोलियां बरसा कर मौके से फरार हो जाते हैं।

शुक्रवार रात को कमलेश की बीवी ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर उनके पति के हत्यारों को नहीं पकड़ा गया तो वह आत्मविसरजन कर लेंगी।

कमलेश के परिजन और समर्थक इस घटना का विरोध करते हुए शवगृह के बार प्रदर्शन करते हुए भी नज़र आए।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Share via
Copy link
Powered by Social Snap